Home Suvachar सुविचार / suvichar in hindi image 461 – suprabhat suvichar

सुविचार / suvichar in hindi image 461 – suprabhat suvichar

6 second read
0
0
322
सुविचार / suvichar in hindi image 461 – suprabhat suvichar

सुप्रभात

आज का विचार

suvichar in hindi image – good morning suvichar

आज का विचार के इस वैज्ञानिक युग में अध्यात्म के कुछ वाक्य हमारे जीवन में बहुत बड़ा बदलाव ला सकते हैं।

  • बड़े अजीब से आजकल
    इस दुनियां के मेले हैं,
    दिखती तो भीड़ है
    पर चलते सब अकेले हैं… hindi-suvichar-image-9
  • ताकत आवाज में नहीं
    विचारों में रखो, क्योकि
    फसल बारिश में होती है, बाढ़ में नहीं… 
  • समय और भाग्य
    दोनों ही परिवर्तनशील है इन पर किसी को
    अहंकार नहीं करना चाहिए ।
  • काम करने वालों की कदर करो…
    कान भरने वालों की नहीं…
  • एक पत्थर की भी तकदीर सँवर सकती है
    शर्त ये है कि सलीके से तराशा जाए
  • जीना है तो अच्छे
    बनकर जियो,
    दिखावे के लिए तो
    हर कोई जीता है ।
  • रिश्ते बड़े नहीं,
    निभाने वाले बड़े होते हैं ।
  • कामयाबी बड़ी नहीं
    पाने वाले बड़े होते हैं ।
    दरार बड़ी नहीं
    भरने वाले बड़े होते हैं ।
  • लाख जमाने भर की
    डिग्रियाँ हो हमारे पास
    अपनों की तकलीफ
    नहीं पढ़ पाये तो,
    अनपढ़ ही है हम ।
  • अंजाम क्या है, ये मालूम है मूझे
    बस,
    सफर खूबसूरत है
    इसलिए चला जा रहा हूँ ।
  • जब तक
    एक दूसरे की मदद करते रहेंगे,
    तब तक कोई भी नही गिरेगा चाहे
    व्यापार हो
    परिवार हो
    या फिर समाज हो ।
  • संस्कारो से बड़ी कोई
    वसीयत नही और
    ईमानदारी से बड़ी कोई
    विरासत नहीं
  • अभिमान नहीं होना चाहिए कि
    मुझे किसी की जरूरत नहीं पड़ेगी
    और ये
    वहम भी नहीं होना चाहिए कि
    मेरी जरूरत सबको पड़ेगी
  • जिन्दगी
    जीने का एक सिंपल
    फार्मूला खुद में खुश
    रहना और किसी से
    कोई उम्मीद नहीं रखना । hindi-suvichar-image-9
Load More Related Articles
Load More By ebig24blog
Load More In Suvachar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सुविचार / suvichar in hindi image 518 – suprabhat suvichar

सुप्रभात आज का विचार suvichar in hindi image – suprabhat suvichar आज का विचार के इस वैज्ञा…