Home Prerak Prasang प्रेरक प्रसंग /motivational story 5 -inspirational story-moral story in hindi

प्रेरक प्रसंग /motivational story 5 -inspirational story-moral story in hindi

9 second read
0
0
271
प्रेरक प्रसंग /motivational story 5 -inspirational story-moral story in hindi

लघु कहानी

लालच का बुरा परिणाम

motivational story-inspirational story-moral story in hindi

आज जिस प्रेरक प्रसंग  prerak-prasang-hindi की बात कर रहें । वह है ‘‘लालच का बुरा परिणाम’’ ।

एक बार किशनगढ़ में एक चोर चोरी के इरादे से आया। जब वह एक घर में चोरी करने घुसा, तो कुछ ग्रामीणों ने उसे देख लिया और उसे पकड़ कर एक पेड़ से बाँध दिया। फिर वे विचार करने लगे कि इसे क्या सजा दी जाए? काफी सोच-विचार कर आखिर तय हुआ कि गाँव के मुखिया से पूछा जाए। यह विचार करके सब चोर को वही बँधा छोड़कर मुखिया के पास चले गये। motivational-story

इधर उस चोर को एक चरवाहे ने देखा। वह भेड़ो का रेवड़ लेकर चराने जा रहा था। उसने चोर से पूछा तुम कौन हो, यहाँ तुम्हें किसने बाँधा ? तुमने ऐसा क्या किया था?

चोर ने कहा- यहाँ कुछ चोर-डाकू आए थे, जो लोगों को लूट कर धन कमाते हैं। पाप से बचने के लिए वे धन को दान भी करते हैं। कई दिनों से वे सोने की मोहरे दान करना चाहते थे, किंतु लेने वाला कोई नहीं मिल रहा था। मैं एक फकीर हूँ। मैनें मोहरे लेने से मना किया, तो उन्होने मुझे जबरदस्ती इस पेड़ से बाँध दिया। वे अपनी पाप की कमाई लेने गए हैं, जिसे वे मुझे जबरन देंगे, जबकि मैं उससे दूर रहना चाहता हूँ।

चोर की बात सुनकर चरवाहे के मन में लोभ जाग गया। उसने कहा- मैं तुम्हारे बंधन खोल देता हूँ और तुम अपनी जगह मुझे बाँध दो। अभी अँधेरा हो रहा। हैं। अँधेरे में वे मुझे नहीं पहचान पाएँगे और मोहरें मुझें दे देंगे, जिससे मेरी गरीबी दूर हो जाएगी।

चोर ने यही किया और चरवाहे को अपनी जगह बाँध कर उसकी भेड़ लेकर वहाँ से चला गया। उधर ग्रामीणों के मुखिया ने चोर को समुद्र में फेंक ने का आदेश दिया। ग्रामीणों ने चरवाहे को समुद्र में फेंक दिया। इस प्रकार लालच ने चरवाहे के प्राण ले लिये। motivational-story

शिक्षा :- लालच का परिणाम सदैव आत्मघाती ही होता हैं। अतः इससे दूर रह कर संतोषी जीवन जीना चाहिए।

Load More Related Articles
Load More By ebig24blog
Load More In Prerak Prasang

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सुविचार / suvichar in hindi image 464 – suprabhat suvichar

सुप्रभात आज का विचार suvichar in hindi image – good morning suvichar आज का विचार के इस वैज…